Thursday, February 21, 2019

मसूद अजहर के खिलाफ नहीं है सऊदी अरब, मंत्री आदिल बिन अहमद अल जुबैर कहा आतंकवाद बर्दाश्त नहीं करेगा


नई दिल्ली सऊदी अरब के विदेश मंत्री आदिल बिन अहमद अल जुबैर ने इस बात से इनकार कर दिया कि रियाद जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित कराने के भारत के प्रयासों का विरोध करता है मंत्री ने कहा कि उनके देश की आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति है सऊदी अरब के विदेश मंत्री आदिल बिन अहमद अल जुबैर ने कहा कि सऊदी अरब पाकिस्तान संयुक्त बयान में जिस संयुक्त राष्ट्र सूचीबद्धता प्रणाली के राजनीतिकरण से बचने का आह्वान किया गया है  वह भारत के प्रयासों की ओर केन्द्रित नहीं है भारत आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की विश्व आतंकवादी सूची में शामिल करवाने का प्रयास करता रहा है एक विशेष साक्षात्कार में सऊदी के विदेश मंत्री ने कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान चाहेंगे तो उनका देश इन दोनों देशों के बीच मध्यस्थता और तनाव कम करने में भूमिका निभाने पर विचार करेगा अल जुबैर ने इस बात से इंकार किया कि सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान के सोमवार को इस्लामाबाद के दौरे के दौरान पाक सऊदी बयान पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने वाले अजहर को आतंकवादी घोषित कराने के भारत के प्रयासों के खिलाफ है उन्होंने कहा कोई भी जो आतंकवादी है उसे चिन्हित किया जाना चाहिए विचार यह सुनिश्चित करने का था कि कोई राजनीतिकरण नहीं हो ताकि लोग अपने राजनीतिक विरोधियों का नाम आतंकवादी के रूप में चिन्हित नहीं करें हमें ऐसे लोगों का नाम उछालते वक्त लापरवाह नहीं होना चाहिए जो आतंकवादी नहीं हैं





सऊदी के युवराज के साथ यहां आए अल जुबैर ने कहा लगता है कि लोग यहां मानते हैं कि पाक सऊदी संयुक्त बयान एक व्यक्ति विशेष अजहर पर होना चाहिए सऊदी विदेश मंत्री ने कहा कि उनके देश की आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति है और जो आतंकवाद का समर्थन करता है और इसे वित्तपोषित करता है उसे चिन्हित किया जाना चाहिए तथा सजा दी जानी चाहिए पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सऊदी अरब का मानना है कि दोनों देश तनाव कम कर सकते हैं और शांतिपूर्ण ढंग से मुद्दों को सुलझा सकते हैं सऊदी के विदेश मंत्री ने कहाए हमे है कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव नहीं बढेगा दोनों देशों में समझदार नेतृत्व है जिसका प्रतिनिधित्व दोनों देशों के प्रधानमंत्री कर रहे हैं मुझे लगता है कि वे तनाव कम करने का तरीका खोज लेंगे यह पूछे जाने पर कि क्या सऊदी अरब दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने का प्रयास करेगाए उन्होंने कहा हम् भारत और पाकिस्तान द्वारा बुलाए बिना दोनों देशों के बीच तनाव में खुद शामिल नहीं होंगे







Share This
Previous Post
Next Post

Pellentesque vitae lectus in mauris sollicitudin ornare sit amet eget ligula. Donec pharetra, arcu eu consectetur semper, est nulla sodales risus, vel efficitur orci justo quis tellus. Phasellus sit amet est pharetra

0 Comments: